कलमा और मंत्रों के साथ 98 जोड़ो ने थामा एक दूजे का हाथ 

कमल वर्मा

औरैया। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के अन्तर्गत जिले के एक विद्यालय में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह सम्मेलन का आयोजन किया गया। विवाह सम्मेलन में कलमा व मंत्रों के साथ 98 जोड़ो ने एक दूसरे का हाथ थामकर एक दूसरे का जिंदगी भर साथ निभाने का वादा किया।

सामूहिक विवाह हेतु 103 जोड़ों ने अपना रजिस्ट्रेशन कराया था, परन्तु 05 जोड़े किन्हीं कारणों से सामूहिक विवाह में शामिल नही हो सके। सामूहिक सम्मेलन को लेकर सुबह से ही वर एवं वधू पक्ष के लोगों का आने का सिलसिला शुरू हो गया था। सामूहिक विवाह के दौरान ढोल नगाड़े भी बजते रहे। सामूहिक विवाह में 95 हिन्दू जोडों को मंत्रों के साथ तथा 03 मुस्लिम जोडों को पूर्व शहर काजी व दीनी तालीम के जानकार मो0 आारिफ रहमानी ने निकाह पढाया और समारोह में शामिल जोडों ने एक दूजे का हाथ थामा। इस दौरान हजारों की संख्या में लोग सामूहिक विवाह सम्मेलन के साक्षी बने। जिलाधिकारी ने वधू को बिछिया एवं पायल उपहार स्वरूप भेंट की।

जिलाधिकारी ने इस मौके पर कहा कि मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना ऐसी योजना है जिसमें गरीब परिवारों को शासकीय मदद देकर सामूहिक विवाह कराया जाता है।

उन्होंने कहा कि शासन द्वारा जोड़ों को दी जाने वाली सहायता राशि पहले से बढ़ाकर अब 51000 कर दी गई है। 35 हजार रुपये की धनराशि सीधे खाते में भेजा जा रही है और 16 हजार रूपयों से पायल, बिछिया, कपड़े, बर्तन आदि दिया जा रहा है। जिलाधिकारी ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा अधिक से अधिक लोगों को इस योजना में जोड़ा जा रहा है। जिलाधिकारी ने पीडी को निर्देश दिए कि जिन नवविवाहित जोड़ों के पास शौचालय नहीं है उन्हें शौचालय दिया जाए। कार्यक्रम में मौजूद सांसद अशोक दोहरे ने अपने संबोधन में कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा जो जनकल्याणकारी योजनाएं संचालित की गई है उनमें से सामूहिक विवाह योजना भी एक बहुत ही महत्वपूर्ण योजना है।

उन्होंने नवविवाहित सभी जोड़ों को सुख समृद्धि व खुशहाली का जीवन व्यतीत करने की शुभकामनाएं और बधाइयाँ दी। नव दम्पति जोड़ो को सदर विधायक रमेश दिवाकर, भाजपा जिलाध्यक्ष गीता शाक्य, जिलाधिकारी श्रीकान्त मिश्रा, परियोजना निदेशक जीपी गौतम, समाज कल्याण अधिकारी श्री भगवान ने वर वधू को सुखमय जीवन का आर्शीवाद दिया।

What do you think?

0 points
Upvote Downvote

रतनलाल बने उन्नाव शहर कांग्रेस अनुसूचित जाति-जनजाति विभाग के अध्यक्ष

कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियों के लिए रामबाण है ये औषधि, ऐसे करें सेवन