आतंकी के खिलाफ ट्विटर पर उबाल, लोगो बोले-#BoycottChineseProducts

मसूद के सपोर्ट पर चीन के खिलाफ गुस्सा, लोग बोले- BoycottChina

जैश-ए-मोहम्मद के सरगना और खूंखार आतंकी मसूद अजहर को आखिरकार फिर चीन ने बचा लिया। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) में बुधवार को पाकिस्तान की सरजमीं से संचालित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने का प्रस्ताव पास नहीं हो सका। मसूद अजहर के बचाव में उतरे चीन की चाल कामयाब हो गई।

बताते चले पुलवामा हमले के मास्टरमाइंड और आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का सरगना मसूद अज़हर को लेकर एक बार फिर चीन ने अपना दोगला चेहरा दिखाया है. ऐसा चौथी बार हुआ है जब चीन मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने में रोड़ा बन गया है. चीन ने ग्लोबल आतंकी घोषित करने के प्रस्ताव पर वीटो लगा दिया. जिसके बाद ये प्रस्ताव रद्द हो गया है. चीन के इस कदम से भारत के लोगों में आक्रोश है.

मसूद के सपोर्ट पर चीन के खिलाफ गुस्सा, लोग बोले- BoycottChina

लोगों ने तो #BoycottChina और #Boycottchineseproducts नाम से ट्विटर और फेसबुक पर चीनी सामानों के खिलाफ अभियान छेड़ दिया है.

मसूद के सपोर्ट पर चीन के खिलाफ गुस्सा, लोग बोले- BoycottChina

लोगों का कहना है कि चीन से भारत में जितना भी सामान आ रहा है उसे खरीदना बंद कर देना चाहिए. क्योंकि चीन आतंकियों को संरक्षण दे रहा है.

मसूद के सपोर्ट पर चीन के खिलाफ गुस्सा, लोग बोले- BoycottChina

यहां तक कि लोग चीन के Oppo, VIVO, Huawei, Redmi, one plus, Gionee कंपनी के मोबाइल फोन तक बैन करने की मांग कर रहे हैं.

मसूद के सपोर्ट पर चीन के खिलाफ गुस्सा, लोग बोले- BoycottChina

यहीं नहीं, लोगों ने ट्विटर पर चीन के ऐप की लिस्ट डाली है जिन्हें Uninstall करने की मांग उठ रही है. इस लिस्ट में Tiktok, like, helo, Shareit, UC Browser, PUBG Mobile game आदि को बैन करने की मांग उठ रही है

मसूद के सपोर्ट पर चीन के खिलाफ गुस्सा, लोग बोले- BoycottChina

लोगों ने तो IPL तक को ना देखने की मांग की है क्योंकि IPL में चीन की कई कंपनियां प्रायोजक हैं. लोगों का कहना है कि BCCI को भी इस दिशा में कदम उठाना चाहिए.

मसूद के सपोर्ट पर चीन के खिलाफ गुस्सा, लोग बोले- BoycottChina

उधर, चीन के दोगले रवैये के बाद कांग्रेस ने इसे मोदी सरकार की कूटनीतिक विफलता करार दी है. कांग्रेस का कहना है कि मोदी सरकार न तो पाकिस्तान में आतंकियों पर कार्रवाई कर पाई है और ना ही मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी करार दिया है.

मसूद के सपोर्ट पर चीन के खिलाफ गुस्सा, लोग बोले- BoycottChina

सूत्रों का कहना है कि चीन इस बात पर अड़ा है कि आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद और मसूद अजहर का आपस में कोई रिश्ता नहीं है और मसूद के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले हैं.

कुछ घंटों में ही ट्रेंड करना लगा #BoycottChina
चीन ने इससे पहले 2009, 2016 और 2017 में भी मसूद अजहर पर बैन के खिलाफ वीटो का इस्तेमाल किया था। चीन के वीटो की खबर आते ही ट्विटर पर बायकॉट चाइना, बायकॉट चाइनीज प्रॉडक्ट्स जैसे हैशटैग ट्रेंड में आ गए। अकसर चीन के खिलाफ ऐसे हैशटैग ट्रेंड होते रहे हैं। भारत चीन से 55 अरब डॉलर के सामान का आयात करता है। सरकारी सूत्रों ने कहा कि चीन का एक बार फिर से मसूद अजहर के लिए वीटो इस्तेमाल करना आतंकवाद के खिलाफ उसकी दोगली नीति का परिचायक है।

What do you think?

0 points
Upvote Downvote

यूएन में आतंकवादी मसूद के खिलाफ प्रस्ताव रद्द, चीन ने लगाई रोक तो भारत ने दिया यह बयान

लोकसभा चुनाव: दीदी ममता ने इस हॉट एक्ट्रेस को दिया टिकट, लोगो ने उठाए कई सवाल…