गोवा: प्रमोद सावंत बने मुख्यमंत्री, दो डिप्टी CM के साथ 11 मंत्रियों ने भी ली शपथ, मोदी ने दी बधाई

नई दिल्ली। भाजपा नेता प्रमोद सावंत ने देर रात गोवा के मुख्यमंत्री का पदभार संभाल लिया है। उनके साथ सुदीन धावलीकर और विजय सरदेसाई ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है। विजय सरदेसाई गोवा फॉरवर्ड पार्टी के प्रमुख हैं और सुदीन धावलीकर महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी के विधायक हैं। इन दोनों पार्टियों के सहयोग से ही गोवा में मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व में भाजपा की सरकार चल रही थी। पर्रिकर के निधन के बाद इन दो पार्टियों के सहयोग से अब यह जिम्मेदारी प्रमोद सावंत निभाएंगे।

goa new cm pramod sawant jpg

यह पहला मौका है जब गोवा में कोई उप मुख्यमंत्री बना है। इन तीनों ने रविवार देर रात गोवा राजभवन में राज्यपाल मृदुला सिन्हा की उपस्थिति में पद एवं गोपनीयता की शपथ ली। उन्होंने कहा, ‘पार्टी ने मुझे बहुत बड़ी जिम्मेदारी दी है। मैं पूरी ईमानदारी के साथ इस जिम्मेदारी के निर्वहन के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करुंगा। मैं आज जो भी हूं, मनोहर पर्रिकर की वजह से हूं। वही मुझे राजनीति में लेकर आए। मैं उन्हीं की वजह से पहले गोवा विधानसभा का अध्यक्ष बना और अब मुख्यमंत्री बना हूं।’ इससे पहले अपने सहयोगी दलों के साथ हुई कई बैठकों के बाद भाजपा राज्य में मुख्यमंत्री पद को लेकर बने गतिरोध को दूर करने में सफल रही। पर्रिकर जब मुख्यमंत्री थे तो उस समय उप मुख्यमंत्री पद की कोई व्यवस्था नहीं थी। भाजपा के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा, ”हम गठबंधन के सहयोगियों को राजी करने में सफल रहे और राज्य के लिए दो उप मुख्यमंत्रियों के फार्मूले को अंतिम रूप दिया।”

उल्लेखनीय है कि गोवा फॉरवर्ड पार्टी के तीन, महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी के तीन और तीन निर्दलीय विधायकों के साथ भाजपा विधायकों की बैठक रविवार देर रात तक कई बार हो चुकी थी, ताकि पर्रिकर के उत्तराधिकारी पर आम राय बनाई जा सके। पर्रिकर एक गठबंधन सरकार का नेतृत्व कर रहे थे, जिसमें भाजपा, जीएफपी, एमजीपी और तीन निर्दलीय शामिल थे। इस समय कांग्रेस 14 विधायकों के साथ राज्य में सबसे बड़ी पार्टी है। 40 सदस्यों वाली विधानसभा में भाजपा के 12 विधायक हैं। भाजपा विधायक फ्रांसिस डिसूजा के निधन तथा रविवार को पर्रिकर के निधन और पिछले वर्ष कांग्रेस के दो विधायकों सुभाष शिरोडकर तथा दयानंद सोप्ते के इस्तीफों के कारण विधानसभा की क्षमता घटकर अब 36 हो गई है।

मुख्यमंत्री पद बड़ी जिम्मेदारी: सावंत
गोवा के नवनियुक्त मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा है कि उन्हें बड़ी जिम्मेदारी दी गयी है और वह दिवंगत मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की महान विरासत को आगे ले जाएंगे।  डाॅ. सावंत ने सोमवार रात मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद संवाददाताओं से कहा कि जिम्मेदारी लेनी थी और गठबंधन के सहयोगियों को साथ लिया जायेगा। उन्होंने कहा कि वह भले ही श्री पर्रिकर के जितना काम करने में समर्थ नहीं हों लेकिन वह उनके अधूरे कामों को पूरा करने का हरसंभव प्रयास करेंगे।  सैंकुलिम विधानसभा क्षेत्र से विधायक डाॅ. सावंत ने कैंसर से जूझ रहे मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का 17 मार्च को निधन होने के बाद कल देर रात शपथ ली। इससे पहले भाजपा नेताओं ने गठबंधन सहयोगियों के साथ बैठक में मुख्यमंत्री पद के लिए डॉ. सावंत के नाम का प्रस्ताव रखा था। पैंतालिस वर्षीय डॉ. सावंत पूर्ववर्ती सरकार में गोवा आधारभूत ढांचा विकास निगम के अध्यक्ष थे। उनकी पत्नी सुलक्षणा सावंत रसायनशास्त्र की शिक्षक और गोवा प्रदेश महिला मोर्चा की अध्यक्ष है। श्री पर्रिकर के 2017 में राज्य की राजनीति में लौटने और फिर मुख्यमंत्री बनने के बाद डॉ. सावंत को विधानसभा अध्यक्ष बनाया गया था।

गाेवा में मुख्यमंत्री के साथ 11 मंत्रियों ने ली शपथ
गाेवा में सोमवार देर रात विधानसभा अध्यक्ष प्रमोद सावंत के शपथ ग्रहण के साथ ही 11 नये कैबिनेट मंत्रियों ने भी शपथ ली।  राज्यपाल मृदुला सिन्हा ने शहर के पास डोना पॉला स्थित राजभवन में डॉ. सावंत को पद और गोपनीयता की शपथ दिलायी। इस अवसर पर 11 नये मंत्रियों को भी शपथ दिलायी गयी जिनमें विधायक सुदीन धवलीकर, विजय सरदेसाई, बाबू अजगांवकर, रोहण खोंटे, गोविंद गौड़े, विनोद पालयेकर, जयेश सलगांवकर, मौवीन गोडिन्हो, विश्वजीत राणे, मिलिंद नाईक और नीलेश काबरेल शामिल हैं। मंत्रियों के बीच अब तक मंत्रालयों का वितरण नहीं किया गया है लेकिन श्री धवलीकर और श्री सरदेसाई को उप मुख्यमंत्री बनाये जाने की संभावना है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय स्तर के नेताओं और गठबंधन सहयोगी महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी तथा गोवा फॉरवर्ड पार्टी के बीच सोमवार पूरे दिन चली चर्चा और बैठकों के बाद मध्यरात्रि के बाद डाॅ. सावंत और 11 मंत्रियों ने पद एवं गोपनीयता की शपथ ली।
सूचना एवं प्रचार विभाग की आेर से जारी सूचना के मुताबिक शपथ ग्रहण समारोह कल रात 11 बजे होना था लेकिन इसमें लगभग तीन घंटे की देरी हो गयी और यह देर रात दो बजे हुआ।  भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह कल मुंबई में रहें। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और पार्टी महासचिव बी एल संतोष 17 मार्च को ही यहां पहुंच गये तथा कई बैठकें की। उन्होंने एमजीपी और जीएफपी का समर्थन भी हासिल कर लिया। दोनों दलों के तीन-तीन विधायक हैं और उनके समर्थन के बिना सरकार बनाये रखना संभव नहीं है क्योंकि भाजपा के पास 36 सदस्यीय विधानसभा में केवल 12 विधायक हैं।  गौरतलब है कि राज्य के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे, केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाईक, विद्युत मंत्री नीलेश काबरेल और भाजपा की प्रदेश इकाई के प्रमुख एवं राज्यसभा सांसद विनय तेंदुलकर भी मुख्यमंत्री पद के लिए होड़ में थे लेकिन डॉ. सावंत ने सबको पीछे छोड़ दिया।

Related image

मोदी ने मुख्यमंत्री बनने पर सावंत को दी बधाई
नयी दिल्ली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गोवा के नवनियुक्त मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत को पद भार संभालने पर बधाई दी है और उम्मीद जतायी है कि वह गोवा के लोगों की आशाओं पर खरे उतरेंगे। श्री मोदी ने ट्वीट कर कहा, “डॉ. प्रमोद सावंत और उनकी टीम को शुभकामनाएं। वे गोवा के लोगों के सपने पूरे करने की अपनी यात्रा शुरू कर रहे हैं। मुझे विश्वास है कि वे पिछले कुछ वर्षों में शुरू किये गये कार्यों को आगे बढ़ायेंगे तथा गोवा को प्रगति के पथ पर अग्रसर करेंगे।”डॉ. सावंत ने साेमवार देर रात मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। उन्होंने कैंसर से जूझ रहे मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का 17 मार्च को निधन होने के बाद यह पद संभाला है।

What do you think?

0 points
Upvote Downvote

महासंग्राम : गंगा के रास्ते मोदी के गढ़ में प्रियंका की हुंकार, ये बना आगे का प्लान…

स्पेशल ओलंपिक 2019 : लखनऊ की प्रिया कुशवाहा ने दो स्वर्ण और एक कांस्य पदक जीतकर रचा इतिहास