मंदिर में मूर्तियो को क्षतिग्रस्त कर सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश

-सौहार्द बिगाड़ने के लिए अराजक तत्वो ने घटना को दिया अंजाम
-मौके पर भारी पुलिस बल तैनात, घटना को लेकर जनता में आक्रोश
-प्रशासन ने मूर्तियो को जोड़कर किया स्थापित, एक सप्ताह में दूसरी मूर्ति लगाने का दिया आश्वासन 
गोरखपुर। होली के पर्व से दो दिन पहले ही अराजकतत्वों ने शहर का माहौल बिगाड़ने के लिए घिनौना खेल खेला, अराजकतत्वों ने शहर के पादरी बाजार व भगत चैराहा के पास स्थित मंदिरों में देवी-देवताओं की मूर्तियों को बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर मूर्तियों के टुकड़ें सड़क फेंका मिला। इस घटना से हिंदू आस्था को गहरा आघात लगा है और घटना को लेकर जनमानस में भारी आक्रोश व्याप्त है। सूचना मिलते ही पुलिस के उच्चाधिकारियों सहित एलआईयू की टीमों ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। पुलिस ने खंडित मूर्तियों को जोड़कर खड़ा करने के साथ वस्त्र पहना दी है । तथा एहतियात के तौर पर मौके पर भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है ।
प्राप्त जानकारी के अनुसार
शाहपुर के पादरी बाजार मुख्य सड़क पर सोमवार की सुबह सड़क पर हिंदुओ के आस्था के प्रतीक देवी-देवताओं के खंडित मूर्तियों को देख लोग हैरत में पड़ गए। वहां के नजदीक में स्थित नटवीर बाबा मंदिर में भी 12 मूर्तियों को बेरहमी के साथ तोड़ कर फेका गया था। हनुमान, माँ दुर्गा व काली प्रतिमा को पूरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया गया।  यही से मात्र 100 मीटर की दूरी पर पिपराइच के तरफ विधूत बिल जमा केन्द्र ध्शिकायत केन्द्र के ठीक सामने भगत चैराहे पर पीपल के पेड़ के नीचे स्थित भगवान शनि व माँ सरस्वती देवी के विशालकाय मूर्ति को तोड़ कर सड़क पर फेंक दिया गया है। घटना स्थल के  बगल झोपड़ी में किराना की दुकान चलती है उपद्रवियों को मंदिर होने की आशंका होने पर पर्दा फाड़कर देखा गया । सूचना पर पहुची शाहपुर पुलिस दोनों मंदिरों में आनन फानन मूर्तियों को  ईंट के सहारे खड़ा कर दिया तथा सीओ गोरखनाथ कपड़ा मंगवाकर मूर्तियों को ढकवाया। शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए पुलिस लगातार जनता से अपील कर रही है व गस्त जारी है , लोगों को एक साथ खड़ा नही होने दिया जा रहा है।
पुलिस की कार्यप्रणाली पर उठाया सवाल
घटना के बाद मौके पर पहुंची आक्रोशित जनमानस ने पुलिस सवाल किया कि जब अराजक तत्व घटना को अंजाम दे रहे थे तब पुलिस का हॉक दस्ता पीआरवी वैन डायल-100 तथा बीट सिपाही कहां ड्यूटी कर रहे थे कि उनको घटना का पता नही चल सका । जबकि घटना घटित दोनो मंदिर मुख्य मार्ग पर स्थित है ।
सीसी कैमरो से भी नही मिली मदद
अगल-बगल के सभी सीसीटीवी कैमरे खराब हैं या रेंज से बाहर हैं। इस कारण पुलिस को सीसीटीवी कैमरों से भी कोई मदद नहीं मिल पा रही है।
अराजक शरारती तत्वों की करतूत
पुलिस क्षेत्राधिकारी अपराध एवं गोरखनाथ प्रवीण सिंह ने बताया कि घटना की छानबीन चल रही है। मूर्तियों को क्षतिग्रस्त करने वाले अराजक तत्व शीघ्र ही पुलिस की हिरासत में होंगे। प्रथम दृष्टया यह किसी की शरारत लग रही है।

What do you think?

0 points
Upvote Downvote

सपा बसपा गठबंधन ने उडाई भाजपा की नींदः विनयशंकर 

यूपी में एक और गठबंधन: शिवपाल को मिला पीस पार्टी का साथ, अब मिलकर लड़ेंगे चुनाव