बहराइच : सत्यवादी हरिश्चंद्र की कथा सुन भावुक हुए श्रोता

क़ुतुब अंसारी 
– भागवत कथा के दौरान मतदाता जागरूकता की अपील
 बहराइच l बौंडी क्षेत्र के रानीबाग गांव स्थित महादेवा स्थान पर चल रही श्रीमद् भागवत कथा के चौथे दिन कथा व्यास पंडित रमेश गिरी जी महाराज ने श्रोताओं को सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र की कथा सुनाई। कथा सुनकर श्रोता भावुक हो उठे। इस दौरान कथा व्यास ने पंडाल में बैठे सभी भक्तों को आगामी लोकसभा चुनाव में मतदान करने के लिए सौगंध भी दिलाई। कथा को आगे बढ़ाते हुए महाराज ने कहा अयोध्या के राजा हरिश्चंद्र ने विश्वामित्र के कहने पर अपना सब कुछ दान कर दिया था। अंत में उन्होंने विश्वामित्र को दक्षिणा देने के लिए स्वयं को और अपनी पत्नी तारा व बेटे रोहिताश्व को भी बेच दिया था।
अंतिम दिनों में वे काशी में गंगा नदी के किनारे शमशानघाट पर मुर्दे जलाते थे। एक दिन माया रूपी सर्प ने रोहिताश्व को डस लिया। अपना धर्म निभाते हुए हरिश्चंद्र ने शव के अंतिम संस्कार से पहले कर के रूप में तारा देवी से आधी साड़ी का हिस्सा मांगा। महाराजा हरिश्चंद्र के इस दान, धर्म व सत्य के समक्ष ऋषि विश्वामित्र को नतमस्तक होना पड़ा। इस दौरान श्याम सुंदर सिंह, अमरचंद सिंह, रिंकू सिंह, धर्मेंद्र, शिवभोला, ज्ञानचंद, शिवपूजन, उमेश समेत अन्य श्रद्धालु मौजूद रहे।

What do you think?

0 points
Upvote Downvote

बहराइच : निकाली गयी मतदाता जागरूकता रैली

जीआरपी पुलिस ने चोरी के दो मोबाइल के साथ शातिर को किया गिरफ्तार