एक और आजम का विवादित बयान, अब कहा-सरकार बनने पर अफसरों से मायावती के जूते साफ करवाऊंगा

रामपु । समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान के मुंह से विवादित बोल लगातार जारी हैं। भाजपा की लोकसभा उम्मीदवार जयाप्रदा पर की गयी अभद्र टिप्पणी को लेकर सोमवार को शाहबाद थाने में मुकदमा दर्ज होने के बाद फिर उनका एक विवादित वीडियो सामने आया है जिसमें वे सरकार बनने पर अफसरों से मायावती के जूते साफ करवाने की बात कह रहे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आजम की टिप्पणी को अशोभनीय और अखिलेश की चुप्पी को शर्मनाक बताया है।

रामपुर से गठबंधन के उम्मीदवार आजम खान के मुंह से विवादित बोल लगातार जारी है। जयाप्रदा पर की गयी अभद्र टिप्पणी का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था कि उनका एक और विवादित वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों पर जुबानी हमला बोला है। इस वीडियो में आजम कह रहे हैं कि सब डटे रहो। कलेक्टर-पलेक्टर से मत डरियो। ये तनखइये हैं। तनखईयो से नहीं डरते। मायावती जी के फोटो देखे हैं। कैसे बड़े-बड़े अफसर रूमाल निकाल कर जूते साफ कर रहे हैं। उन्हीं से है गठबंधन। उन्हीं से मायावती जी के जूते साफ कराऊंगा अल्लाह ने चाहा तो।

आजम पर अभद्र टिप्पणी मामले में मुकदमा दर्ज

रामपुर से भाजपा की लोकसभा उम्मीदवार जयाप्रदा पर की गयी अभद्र टिप्पणी के मामले में क्षेत्रीय मजिस्ट्रेट ने आजम खान के खिलाफ शाहबाद थाने में आज तहरीर देकर मुकदमा दर्ज कराया है। इसमें कहा गया है कि रामपुर सीट से गठबंधन उम्मीदवार आजम खान ने तहसील शाहबाद में जनसभा के दौरान अश्लील टिप्पणी की थी। आजम खान के खिलाफ आईपीसी की धारा 509 और लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम की धारा 125 में केस दर्ज किया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। इधर मामले को गंभीरता से लेते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग ने नोटिस भेजा है। महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा कि आजम हमेशा महिलाओं के बारे में गंदी-गंदी बात करते हैं, इस चुनाव में उन्होंने दूसरी बार टिप्पणी की है, इसको संज्ञान में लेते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग उन्हें नोटिस भेज रहा है। इसके साथ ही चुनाव आयोग को उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के लिए भी पत्र लिखा गया है।

योगी बोले, आजम की टिप्पणी अशोभनीय, अखिलेश की चुप्पी शर्मनाक

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले में सोमवार को ट्वीट कर कहा कि जयाप्रदा जी के ऊपर घटिया और अशोभनीय टिप्पणी आजम खान की सोच और व्यक्तित्व को दिखाता है। इस पर अखिलेश यादव की चुप्पी शर्मनाक है। स्वयं एक महिला होते हुए मायावती का मौन बताता है कि सत्ता के लिए ये लोग कुछ भी करने और सहने को तैयार हैं।

अमर सिंह ने जया बच्चन की चुप्पी पर उठाये सवाल

अभद्र टिप्पणी को लेकर अमर सिंह ने कहा कि आजम चंगेज खान का प्रतीक है। ऐसी टिप्पणी करके आजम ने महिलाओं के आबरू को तार-तार किया है। उन्होंने कहा कि जया प्रदा, जया बच्चन की सहेली रह चुकी हैं। उनके खिलाफ पार्टी के ही एक वरिष्ठ नेता ने अमर्यादित टिप्पणी की है। ऐसे में वे चुप क्यों हैं। उन्होंने कहा कि आजम ने उन लोगों पर हमला बोला, जिनका सियासत से कोई वास्ता नहीं। कश्मीर और सेना को लेकर भी आजम खान ने कई विवादित बयान दिए हैं।

आजम पर जयाप्रदा का पलटवार

इस टिप्पणी पर जयाप्रदा ने आजम पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि उनके लिए यह कोई नई बात नहीं है। आजम ने सारी हदें पार कर दी हैं। उनका चरित्र हनन हो रहा है। उनकी रक्षा कौन करेगा। उन्होंने कहा कि आजम खान पहले भी हमें परेशान करते रहे हैं और अब फिर हमारे बारे में अश्लील बयानबाजी कर रहे हैं। पिछले चुनाव में उन्होंने अश्लील फोटो बंटवाये थे और इस चुनाव में शाहबाद में अखिलेश यादव की मौजूदगी में बहुत ही घटिया बयानबाजी की है। इससे सिर्फ जयाप्रदा का नहीं बल्कि तमाम महिलाओं का अपमान हुआ है। जयाप्रदा ने यहां तक कहा कि आजम साहब क्या मैं मर जाऊं तो आप खुश रहेंगे।

उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव को उनके खिलाफ फौरन कार्रवाई करनी चाहिए, पार्टी से निकाल देना चाहिए, लेकिन अखिलेश यादव इसलिए कार्रवाई नहीं करते हैं क्योंकि वे समझते हैं कि आजम मुसलमानों के कद्दावर नेता हैं और उनके साथ मुसलमानों के वोट हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को चुनाव लड़ने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। अगर वह जीत गए, तो लोकतंत्र का क्या होगा। उनकी ऐसी सोच होने पर समाज में महिलाओं के लिए कोई जगह नहीं होगी। हम महिलाएं कहां जाएंगी। उन्होंने यह भी कहा कि वह सोचते हैं कि ऐसी टिप्पणी करने से मैं डर जाऊंगी और रामपुर छोड़ दूंगी लेकिन मैं नहीं छोड़ूंगी। आजम खान को हराकर छोड़ूंगी। आजम खान आदत से मजबूर हैं। वह सुधर नहीं सकते हैं।

आजम बोले, गलत तरीके से बयान किया गया पेश

उधर, इस मामले में आजम ने अपनी सफाई में कहा कि उनकी बात को गलत तरीके से पेश किया जा रहा है। बयान में किसी का नाम नहीं लिया गया, अगर कोई यह साबित कर दे कि मैंने किसी नाम लिया और उस पर टिप्पणी की, तो मैं चुनाव नहीं लड़ूंगा।

What do you think?

0 points
Upvote Downvote

स्कूल में मासूम छात्रा से हैवानियत, महिला कर्मियों ने प्राइवेट पार्ट में ठूंसे पत्थर!

जानिए यज्ञ में आहुती के दौरान क्यों कहा जाता है “स्वाहा “?….