विवादों में रही एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर की जिंदगी, अब मौत पर माँ ने खोला राज़

मां उज्ज्वला के साथ रोहित शेखर.  (फाइल फोटो)

नई दिल्ली, । उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय नारायण दत्त तिवारी के बेटे रोहित शेखर की मंगलवार को हृदयगति रुक जाने के कारण मौत हो गई। वो 40 साल के थे। दक्षिणी दिल्ली के उपायुक्त विजय कुमार ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि रोहित शेखर तिवारी को साकेत स्थित मैक्स अस्पताल में अचानक तबीयत बिगड़ जाने के चलते लाया गया था। मैक्स अस्पताल के डॉक्टरों ने मंगलवार शाम 5.50 बजे उसे मृत घोषित कर दिया। उल्लेखनीय है कि रोहित शेखर एनडी तिवारी और उज्जवला तिवारी के पुत्र थे। उन्हें खुद को एनडी तिवारी का जैविक पुत्र साबित करने के लिए लंबी कानूनी लड़ाई लड़नी पड़ी थी। इसके बाद तिवारी ने उन्हें अपना पुत्र मानते हुए उज्जवला से विवाह किया था।

रोहित शेखर की मौत पर माँ ने दिया बड़ा बयान 

इस बीच रोहित की मां उज्ज्वला नेमीडिया  से बात करते हुआ कहा कि उनके बेटे रोहित की मौत तो नेचुरल हुई है, लेकिन बेटे को मानसिक यंत्रणा दी गई| उज्ज्वला ने कहा कि जिन्होंने बेटे को अवसाद में डाला, वे उनका नाम जरूर बताएंगी, लेकिन बाद में| उन्होंने कहा कि मन में बहुत सी बातें हैं, लेकिन ये बात करने का उचित समय नहीं है| बहुत सी बातें करनी हैं| रोहित शेखर की क्या सामान्य मौत हुई? इस सवाल पर उन्होंने कहा कि मृत्यु में कुछ भी असामान्य नहीं है, लेकिन मौत किन अवसादों में हुई, और उसके पीछे कौन लोग हैं, ये मैं जरूर बताऊंगी. उज्ज्वला ने साफ किया कि रोहित को न्यूरो से संबंधित कोई भी समस्या नहीं थी|

What do you think?

0 points
Upvote Downvote

खुशियों के बीच मातम : कल होनी थी शादी आज मिली युवती की सिर कुचली लाश

तूफान पर सियासी संग्राम, अब तक 31 की मौत, CM कमलनाथ ने मोदी पर ट्वीट कर बोला हमला