Dainik bhaskar Logo
Wednesday,23 May 2018

होम |

उत्तर प्रदेश

झांसी में गांव -गांव बनायी जायेगी कम्पोस्ट खाद

By Dainik Bhaskar Up | Publish Date: 1/12/2018 7:53:07 PM
झांसी में गांव -गांव बनायी जायेगी कम्पोस्ट खाद

झांसी| रसायनिक खाद के दुरुपयोग से चिंतित सरकार ने अब जैविक खाद के उपयोग पर बल दिया है। यह खाद मुश्किल से मिलती है, लिहाजा झांसी में गांव-गांव में वर्मी कंपोस्ट यूनिट की स्थापना कराने की तैयारी की जा रही है। इससे न केवल मिट्टी उपजाऊ बनेगी बल्कि फसल भी पौष्टिक और अच्छी क्वालिटी की होगी।
 
झांसी में कृषि उप निदेशक रामप्रताप ने बताया कि जिले के 745 आबाद राजस्व ग्राम में एक-एक यूनिट स्थापित की जाएगी। योजना के संचालन से पशुओं द्वारा उत्सर्जित मल मूत्र, फसल अवशेषों एवं घरेलू व्यर्थ अवशेषों का अधिक प्रयोग हो सकेगा। इससे कार्बन नत्रजन अनुपात में वृद्धि होगी, भूमि के जैविक गुणों में सुधार होगा, प्रति इकाई उत्पादन लागत में कमी कर अधिकतम उत्पादन मिलेगा, पर्यावरण संरक्षित होगा तथा किसानों की आर्थिक स्थिति सुधरेगी। 
 
बढ़ती जनसंख्या, जोतों का छोटा होते जाना, कृषिगत भूमि में लगातार कमी होना, उपलब्ध कृषि भूमि में उन्नतशील प्रजातियों की बुआई ,लगातार फसलों द्वारा भूमि से पोषक तत्वों का दोहन तथा खेतों में असंतुलित मात्रा में रासायिनक उर्वरकों का प्रयोग कृषि मिट्टी में जीवांश कार्बन मात्रा का लगातार हृास हो रहा है। जीवांश बढ़ाने के लिए राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के अंतर्गत मृदा में जीवांश कार्बन बढ़ाने के लिए वर्मी कंपोस्ट यूनिट स्थापना के निर्देश दिए गए हैं।
 
गांव में रहने वाले ऐसे किसान यूनिट खोल सकेंगे जिनके पास उसी गांव में कम से कम एक एकड़ जमीन होगी तथा अनुसूचित जाति व जनजाति के लिए आरक्षित ग्राम सभाओं में इसी वर्ग के किसान का चयन किया जाएगा। पहले आओ पहले पाओ के आधार पर पंजीकृत किसान में से ही लाभार्थी का चयन किया जाएगा। अगर उस गांव में उसी वर्ग का आरक्षित पात्र किसान नहीं मिलेगा तो अन्य वर्ग के इच्छुक किसान को चयनित किया जाएगा।
 
Top